डिप्लोमा कोर्स क्या होता है? इसमें जॉब के लिए क्या विकल्प होते हैं?

डिप्लोमा कोर्स क्या होता है? इसमें जॉब के लिए क्या विकल्प होते हैं?

डिप्लोमा कोर्स क्या होता है इसमें जॉब के लिए क्या विकल्प होते हैं?

डिप्लोमा कोर्स क्या है ?

डिप्लोमा एक ऐसा सर्टिफिकेट होता है जो यूनिवर्सिटी द्वारा विद्यार्थी को दिया जाता है जिससे कि यह पता चलता है कि उस विद्यार्थी ने किसी विशेष सब्जेक्ट में डिप्लोमा पूरा कर लिया है। जैसे डिग्री किसी भी सब्जेक्ट में ली जा सकती है वैसे ही आप डिप्लोमा भी किसी भी सब्जेक्ट में ले सकते हैं यह आपकी रूचि पर निर्भर करता है।

डिग्री और डिप्लोमा में क्या अंतर है ?

अगर कोई विद्यार्थी मास्टर डिग्री या फिर डॉक्टरेट का कोर्स करना चाहता है तो विद्यार्थी के पास कोई विशेष डिग्री होनी चाहिए। विद्यार्थी के पास जिस सब्जेक्ट में डिग्री है उसी के आधार पर उसे मास्टर प्रोग्राम में एडमिशन मिलता है।

डिग्री कोर्स में विद्यार्थी को सभी सब्जेक्ट गहराई में पढ़ाये जाते हैं। वही डिप्लोमा कोर्स में किसी विशेष सब्जेक्ट को पढ़ाने पर ध्यान दिया जाता है। डिग्री कोर्स करने के लिए 3 से 4 साल का समय लग जाता है

वही डिप्लोमा करने के लिए समय बहुत कम लगता है। कुछ डिप्लोमा कोर्स 6 महीने के ही पूरे हो जाते हैं। वहीं कुछ को 1 साल से 2 साल भी लग जाते हैं लेकिन यह डिग्री करने के के समय से बहुत कम है।

डिग्री करने के लिए विद्यार्थी को सीनियर सेकेंडरी पढाई  पूरी करनी होती है और अगर डिप्लोमा की बात करें तो यह आठवीं के बाद भी कर सकते हैं। दसवीं के बाद भी कर सकते हैं और इसे 12वीं के बाद भी किया जा सकता है।

         •  Diploma courses List 

Diploma courses after 8th

अगर कोई विद्यार्थी अपनी पढ़ाई आठवीं तक पूरी कर चुका है और आगे डिप्लोमा करना चाहते हैं तो उसके लिए यह विकल्प उपलब्ध है। जिसमें में डिप्लोमा करके अच्छी नौकरी पा सकते है :

▪︎  कारपेंटर

▪︎  प्लंबर 

▪︎  प्लास्टिक प्रिंटिंग ऑपरेटर

Diploma courses after 10th

अगर विद्यार्थी ने अपनी सेकेंडरी पढ़ाई यानी 10वीं कक्षा पास कर ली है तब वह यह डिप्लोमा कर सकते है :

▪︎  कमर्शियल आर्ट

▪︎  डीजल मैकेनिक

▪︎  इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक 

▪︎  डाई मेकर

Diploma courses after 12th

अगर विद्यार्थी ने अपनी सीनियर सेकेंडरी की पढ़ाई यानी 12वीं कक्षा पास कर ली है तब आपके पास यह डिप्लोमा कोर्सेज उपलब्ध है :

▪︎  कंप्यूटर ऑपरेटर

▪︎  कंप्यूटर ऑपरेटर एंड प्रोग्रामिंग असिस्टेंट

▪︎  स्टेनोग्राफी

▪︎  एडवांस इलेक्ट्रॉनिक्स

▪︎  डेस्कटॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर

▪︎  इलेक्ट्रॉनिक इंस्ट्रूमेंट

▪︎  मैकेनिक 

▪︎  मेट्रोलॉजी एंड इंजीनियरिंग 

▪︎  मैकेनिक कंप्यूटर हार्डवेयर

क्यों करना चाहिए डिप्लोमा कोर्स | डिप्लोमा के फायदे

 1.  नौकरी के अवसर 

डिप्लोमा करने वाले विद्यार्थियों के लिए नौकरी के अवसर ज्यादा होते हैं क्योंकि डिप्लोमा में विद्यार्थी को ज्यादा प्रैक्टिकल काम करवाया जाता है।

 2.  कम समय 

आमतौर पर डिप्लोमा करने में 6 महीने या 1 साल लगता है । वहीं कुछ डिप्लोमा कोर्स हैं जैसे कि: इंजीनियर डिप्लोमा कोर्सेज जिसको करने में 2 से 3 साल का समय लग जाता है। लेकिन इसके बाद आपको एक अच्छी और अधिक सैलरी वाली नौकरी भी मिलती है। 

 3.  कम खर्च 

दूसरा सबसे बड़ा फायदा है डिप्लोमा करने का वह यह है कि डिप्लोमा करने में आपको बहुत कम खर्च आता है और इसको करने के बाद आपकी नौकरी भी लग जाती है जिससे आप अपना डिप्लोमा का खर्च आराम से निकाल सकते हैं।

 4.  कभी भी करें डिप्लोमा

आप डिप्लोमा कभी भी कर सकते हैं यानी आपको डिप्लोमा करने के लिए पूरे साल इंतजार करने की जरूरत नहीं है। कई यूनिवर्सिटीज है जो आपको ऑनलाइन डिप्लोमा करवाती हैं हालांकि आप साल में कई बार डिप्लोमा के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.