VDO Kya Hota hai और VDO kaise Bane ?

स्टूडेंट कुछ नया करना चाहते है अलग तरह की जॉब करना चाहते है। कुछ अलग करने की इच्छा स्टूडेंट को कामयाब बनाती है। आज हम बात करेंगे VDO ( विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर ) क्या होता है और VDO कैसे बने?  ग्रामीण क्षेत्र में विकास के लिए ग्राम विकास अधिकारी यानी VDO की भर्ती निकलती है। 

Vdo kaise bane

VDO ( ग्राम विकास अधिकारी ) क्या होता है ?

VDO यानी ” ग्राम विकास अधिकारी ”  ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंतर्गत आने वाला एक सरकारी पोस्ट है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है VDO गांव में विकास कार्यों के लिए होता है। पंचायती राज विभाग द्वारा ग्रामीण स्तर पर प्रशासनिक कार्य के लिए ग्राम विकास अधिकारी की नियुक्ति की जाती है। गांव में रहने वाले लोगों के जीवन को आसान और बेहतर बनाने के लिए सरकार लगातार कोशिश करती रहती है। इसके कारण ही गांव में स्कूल, अस्पताल बनाए जाते हैं  और खेती से जुड़ी नई-नई तकनीक पहुंचाई जाती है। यह सारे कार्य VDO के माध्यम से ही सरकार द्वारा किए जाते हैं।

VDO का काम क्या है ?

इसना काम सरपंच के साथ मिलकर विकास कार्यो की रूपरेखा बनाना, विकास कार्यों की समीक्षा और निगरानी करना, सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को ग्रामीण जनता तक पहुंचाना, ग्राम सभा और ग्राम पंचायत के कार्यों  पर निगरानी रखना, गांव में स्वच्छता, पेयजल, बिजली जैसी बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था करवाना है। 

इसी के साथ सिंचाई जैसी चीजों की व्यवस्था करवाना, जन्म, मृत्यू, विवाह और अन्य रिकॉर्ड का रखरखाव यह सब काम ग्राम विकास अधिकारी के अधीन आता है।

यह भी पढ़े :  वोकेशनल एजुकेशन क्या है ? और इसे आप कैसे कर सकते हैं ।

VDO योग्यता / VDO kaise Bane

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आपका 12th पास होना जरूरी है और वही कुछ राज्यों में इस पद के लिए 12th के साथ कंप्यूटर में डिप्लोमा भी मांगा जाता है।

12th में आपका कोई भी स्टीम चलेगा, आपका स्टीम चाहे आर्ट, कॉमर्स या साइंस है तब भी आप फॉर्म भर सकते हैं। 

उम्र सीमा 

अगर आप इस पोस्ट के लिए अप्लाई करने की सोच रहे हैं तो आपको बता दो कि आपकी उम्र 40 वर्ष होनी चाहिए तभी आप इसका फॉर्म भर पाएंगे।इसी के साथ आरक्षित वर्ग को  अतिरिक्त छूट दी जाती है।

VDO EXAM

VDO का फॉर्म राजस्व विभाग द्वारा निकाला जाता है। सभी राज्य सरकार ने अपनी सुविधानुसार ग्राम विकास अधिकारी यानी Village Development Officer के नाम से फॉर्म निकालती है। आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर फॉर्म भर सकते हैं। 

Form kab aayega ?

इसके फॉर्म आने का कोई निश्चित समय नहीं है लेकिन अधिकतर जून से जुलाई के बीच में फॉर्म आता है। वैसे अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग महीने में वैकेंसी आती है। हालांकि आपको बता दें कि सरकार को जब कर्मचारियों की आवश्यकता होती है तब ग्रामीण विकास मंत्रालय की तरफ से वैकेंसी निकाली जाती है।

VDO एग्जाम पैटर्न/ Exam Pattern 

सबसे पहले लिखित परीक्षा होती है जोकि 300 अकं की होता है। इस को हल करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है। सभी प्रश्नों के लिए 2-2 नंबर दिए जाते हैं। वही एक गलत उत्तर के लिए एक सही जवाब के अंक काट दिए जाते हैं। इसका पेपर 3 भाग में बांटा रहता है।

•  हिंदी : इससे 50 प्रशन पूछे जाते हैं जोकि 100 अकं के होते है।

जनरल इंटेलिजेंस : इससे 50 प्रशन पूछे जाते हैं जोकि 100 अकं के होते है।

•  सामान्य ज्ञान : इससे भी 50 प्रशन पूछे जाते हैं जोकि 100 अकं के होते है।

VDO का सिलेबस क्या होता है ?

VDO के पेपर को तीन भागों में बांटा गया है पहले भाग में हिंदी लेखन है इसमें छात्रों से हिंदी भाषा के बारे में पूछा जाता है जैसे : अलंकार, समास, पर्यायवाची, विलोम इत्यादि के प्रश्न पूछे जाते हैं। दूसरे भाग में सामान्य ज्ञान के बारे में पूछा जाता है और आखिरी भाग में रिजनिंग पूछा जाता है।

VDO की सैलरी कितनी है ?

एक VDO की सैलरी लगभग ₹22500 प्रति माह होती है। साथ में कई तरह के Allowance भी मिलता है। लेकिन अच्छी बात यह है कि आगे चलकर एक VDO की तरक्की ADO, BDO  जैसे उच्च पदों पर हो सकती है।

VDO की तैयारी कैसे करें ?

ग्राम विकास अधिकारी बनना है तो सबसे पहले एक टाइम टेबल बनाएंगे और पेपर की तैयारी के लिए टाइम टेबल के आधार पर ही आप पढ़ाई कीजिए। टाइम टेबल में हर विषय को बराबर का समय दें। लेकिन जिस विषय में आप कमजोर हैं उसे ज्यादा समय दें। आप चाहे तो यूट्यूब चैनल से भी इसकी तैयारी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.